आज    |   

कोरोना वायरस से दहशत, पर्यटन व्यवसाय को झटका



चीन में फैले कोरोना वायरस से बौद्ध सर्किट के व्यवसाय को बड़ा झटका लगा है। चीनी सैलानी बौद्ध सर्किट भ्रमण की प्री-बुकिंग निरस्त करा रहे हैं। अकेले कुशीनगर जिले में एक दर्जन से अधिक बुकिंग निरस्त हुई हैं। चाइना एसोसिएशन आफ ट्रेवेल सर्विसेज ने इसको लेकर एडवाइजरी भी जारी की है। इससे करोड़ों रुपये के व्यवसाय के नुकसान का अनुमान भी लगाया जा रहा है।

दो वर्ष से चीनी पर्यटकों के आने में हो रही बढ़ोत्‍तरी

विगत दो वर्षों से बुद्धिस्ट सर्किट में चीनी पर्यटकों के आने की संख्या में क्रमश: बढ़ोतरी हो रही थी। कोरोना के कहर ने यहां के पर्यटन व्यवसाय को प्रभावित किया है। शीतकाल में बौद्ध सर्किट के बोध गया, कुशीनगर, सारनाथ, कपिलवस्तु आदि स्थानों पर हजारों की संख्या में चीनी सैलानी आते हैं। इधर कोरोना वायरस के कारण पर्यटक भयभीत हैं। इसलिए इस बार इस पर पूरी तरह से ब्रेक लगता दिख रहा है।

128 चीनी पर्यटकों ने रिजर्वेशन कराया कैंसिल

लोट्स होटल के प्रबंधक आरएम गुप्त ने बताया कि एक फरवरी 2020 को चीनी पर्यटकों के 48 संख्या वाले दो ग्रुप ने यहां रिजर्वेशन कराया था, लेकिन वायरस के कारण निरस्त करा लिया है। होटल रायल रेजीडेंसी के प्रबंधक पंकज कुमार ने बताया कि उनके होटल में छह फरवरी को 80 चीनी सैलानियों के ग्रुप ने कोरोना वायरस के कारण रिजर्वेशन कैंसिल कर दिया है।

यह है एडवाइजरी

चाइना एसोसिएशन आफ ट्रेवेल सर्विसेज ने यात्रा न करने और चीनी अधिकारियों से रिजर्वेशन कराने वाले चीनी पर्यटकों के खर्चे वापस करने का अनुरोध किया है।

चीन से पहुंची छात्रा, कोरोना के लक्षण नहीं

गोरखपुर के गीडा सेक्टर 23 निवासी संजना शर्मा चीन में पढ़ाई करती हैं। वह एयर इंडिया की फ्लाइट से वह गोरखपुर पहुंची। एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा सूचना दिए जाने पर स्वास्थ्य विभाग के कान खड़े हो गए। फिलहाल संजना में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए। सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी ने कहा कि मुंबई एयरपोर्ट अथॉरिटी ने भी उनके स्वास्थ्य को ओके किया है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग 14 दिन तक उनकी मॉनीटरिंग करेगा। संजना चीन से मुंबई आईं और वहां से गोरखपुर। चीन में फैले कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग पहले से ही सतर्क है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ने स्वास्थ्य विभाग को ई-मेल केजरिए संजना के गोरखपुर पहुंचने की सूचना दी। विभाग ने संजना के स्वास्थ्य की जांच की, उनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं मिला।

कोरोना की जांच के लिए स्पेशल टीम गठित

कोरोना की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग ने स्पेशल टीम का गठन किया है। इस टीम को पर्सनल प्रोटेक्शन किट के साथ ही गले की लार निकालने के लिए स्पेशल किट मुहैया कराई गई है।

चीन से आ रहे हर व्यक्ति की हो जांच

सचिव वी. बेकारी झिमोमी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिया कि 15 जनवरी के बाद चीन से आने वाले हर व्यक्ति की जांच की जाए तथा उनके गले की लार का नमूना जांच के लिए पुणे भेजा जाए। इस दौरान महानिदेशक डॉ ज्ञान प्रकाश, निदेशक संचारी रोग डॉ. मिथिलेश चतुर्वेदी, सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी आदि उपस्थित थे।

सोनौली सीमा पर 50 विदेशियों की हुई स्क्रीनिंग

कोरोना वायरस के मद्देनजर सोनौली बार्डर पर अलर्ट जारी रहा। चिकित्सकीय जांच दल ने नोमेंस लैंड के बजाए आव्रजन कार्यालय के कैंपस में अपना जांच डेस्क लगा लिया है। शाम पांच बजे तक भारत से नेपाल जाने वाले कुल 50 विदेशी पर्यटकों की स्क्रीनिंग हुई। जिसमें 40 चीन व 10 मंगोलिया के निवासी शामिल रहे। सभी पर्यटकों में कोरोना वायरस संक्रमण के कोई लक्षण नहीं मिले। स्वास्थ्य जांच टीम में डा. शेफाली गुप्ता, डा. राजीव शर्मा, राजेश कुमार वर्मा, फर्श बहादुर भंडारी शामिल रहे। साभार जागरण

Write your Comment


Related News
  • पर्यटकहरू घुमिरहेको बेला ज्वालामुखी विस्फोट
  • स्वास्थ्यमन्त्रीले भने चीनमा बनेको कण्डम आफ्ना नागरिक र पर्यटकका लागि साँघुरो भयो
  • जनैपूर्णिमा मेलामा पार्वती कुण्डमा एक हजार भन्दा बढि तीर्थयात्रीले मेला भरे जनैपूर्णिमा मेलामा पार्वती कुण्डमा एक हजार भन्दा बढि तीर्थयात्रीले मेला भरे
  • पार्वतीकुण्डमा पनि जनैपूर्णिमा मेला लाग्ने पार्वतीकुण्डमा पनि जनैपूर्णिमा मेला लाग्ने
  • © 2020: OUR TOURISM NEWS All Rights Reserved. Designed by: GOJI Solution
    माथी